Wednesday, September 22, 2010

क्या क्वांटम भौतिकी की शुरुआत बीसवीं शताब्दी से पहले हो चुकी थी?

जब रैण्डमाईज़ेशन पर पूरी तरह आधारित क्वांटम फिजिक्स की शुरुआत हो रही थी तो आइंस्टीन ने कहा था कि गॉड पासे नहीं फेंकता लेकिन आइंस्टीन गलत था. अन्यथा क्वांटम फिजिक्स का कोई वजूद न होता। मेरा पूरा लेख यहाँ पढ़ें !

2 comments:

ओशो रजनीश said...

भाई पूरा लेख तो खुल ही नहीं रहा है ...

यहाँ भी आये एवं कुछ कहे :-
समझे गायत्री मन्त्र का सही अर्थ

zeashan zaidi said...

लिंक की त्रुटि दूर कर दी गई है. ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद!